बहुत से छात्र-छात्राओं को यह तय करने में बहुत परेशानी होती है की 10th Ke Baad Konsa Course Kare क्योंकि 10वीं ऐसी क्लास होती है जिसे पास करने के बाद हमे एक विषय Select करना होता और 10वीं पास करने के बाद विद्यार्थी जो विषय लेता है वही विषय उसके भविष्य की नीव होती है। जैसे ही हम 10वीं कक्षा की परीक्षा देते है उसके बाद हमारे पास बहुत ही कम समय होता है ये सोचने के लिए की 10th Ke Baad Konsa Subject Choose Kare, और फिर जल्दबाजी या अधूरी जानकारी में हम कोई सा भी विषय ले लेते है, जिसमे हमारी रूचि नहीं होती है।

अगर आपने भी 10वीं की परीक्षा पास की है तो आपके मन में भी यही सवाल चल रहा होगा की 10th Ke Baad Kya Karu, जिससे मेरा भविष्य सुरक्षित हो जाए और मैं अपने क्षेत्र में सफलता हासिल कर पाऊं जिससे मुझे समाज में एक अलग पहचान मिल सके। तो अगर आपको भी नहीं पता की 10th Ke Baad Course कौन-कौन से होते है, तो आज आप हमारी इस पोस्ट में जान जायेंगे।

10th Ke Baad Kya Kare In Hindi

हमारे देश भारत में लगभग सभी राज्यों में 10वीं कक्षा तक एक समान विषय ही पढ़ाए जाते है और जैसे ही हम 10वीं कक्षा उत्तीर्ण (पास) कर लेते है, उसके बाद हमे सभी विषयों में से किसी एक विषय को चुनना होता है, जो हमारे करियर के लिए एक महत्वपूर्ण निर्णय होता है। 10th पास करने के बाद आमतौर पर 4 सब्जेक्ट (विषय) होते है, जिनमे से किसी एक का चयन करना होता है।

  • पहला सब्जेक्ट होता है Science (साइंस)
  • दूसरा सब्जेक्ट होता है Commerce (कॉमर्स)
  • तीसरा सब्जेक्ट होता है Arts (आर्ट्स)

10th Ke Baad Course In Hindi

हम जिस विषय का चयन करते है उनका अध्ययन हमे कक्षा 11वीं और कक्षा 12वीं तक करना होता है और इन्ही विषयों के आधार पर हम कक्षा 12वीं पास करने के बाद अपनी कॉलेज की पढाई करते है। चलिए थोड़ा विस्तार से जानते है कि दसवीं के बाद कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए या किस विषय में दसवीं के बाद करियर विकल्प अच्छा होता है।

Image result for 10th bad kya krna chahiye

10th Ke Baad Science (विज्ञान)

साइंस एक ऐसा विषय (स्ट्रीम) है जो लगभग सभी स्टूडेंट की पहली पसंद (फ़र्स्ट प्रेफर) होती है, अगर आप आगे चलकर डॉक्टर या इंजीनियर बनना चाहते है तो आपको साइंसफ़ील्ड चुननी पड़ेगी। साइंस में सिलेबस थोडा ज्यादा मुश्किल होता है, साइंस का पूरा सिलेबस English में होता है। Science में 3 तरह के ग्रुप होते है, जो आपको निचे बताये गए है:

  • Physics, Chemistry, Math (PCM)
  • Physics, Chemistry, Biology (PCB)
  • General Group (PCMB): Physics, Chemistry, Math, Biology

10th के बाद अगर आपको मेडिकल फ़ील्ड जैसे – MBBS, BAMS, BHMS, B.Pharmacy, D.Pharmacy आदि में जाना है, तो साइंस फ़ील्ड में हमे Physics, Chemistry, Biology (PCB) ग्रुप लेना पड़ेगा और अगर आपको 10th Ke Baad Engineering करनी है तो Physics, Chemistry, Math (PCM) ग्रुप सिलेक्ट करना होगा, (PCM) ग्रुप वाले इंजीनियरिंग के अलावा और भी कई क्षेत्रो में जा सकते है और हाँ आपको बता दे की General Group (PCMB) वाले स्टूडेंट दोनों फ़ील्ड Medical Field और Engineering Field में जा सकते है।

10th Ke Baad Commerce (वाणिज्य)

कॉमर्स एक ऐसा विषय है जो 10th क्लास के बाद सबसे ज्यादा लिया जाता है, कॉमर्स वाला विद्यार्थी Business, Finance, Accounts आदि में जा सकता है।जिन स्टूडेंट को एकाउंटिंग और फाइनेंस क्षेत्र में रूचि है उनके लिए कॉमर्स फ़ील्ड सबसे अच्छी है और अगर आप CA बनना चाहते है तो आपके लिए कॉमर्स फ़ील्ड बेस्ट है।

अगर आप सोंच रहे है की कॉमर्स में कौन-कौन से सब्जेक्ट होते हैं तो कॉमर्स फ़ील्ड में आगे चलकर हम B.Com, M.Com, BBA, MBA जैसी प्रोफेशनल कोर्स के साथ ग्रेजुएशन भी पूरा कर सकते है, बैंकिग की एग्जाम के लिए भी कॉमर्स स्ट्रीम सबसे बेहतर विकल्प है।

10th Ke Baad Arts (कला)

आर्ट्स स्ट्रीम भी एक अच्छी स्ट्रीम होती है, अगर आपको कला के क्षेत्र में अपना करियर बनाना है, तो आपके लिए आर्ट्स फ़ील्ड बेहतर विकल्प है। जो विद्यार्थी गवर्नमेंट जॉब (सरकारी नौकरी) के लिए Competitive Exam (प्रतियोगी परीक्षा) की तैयारी करना चाहते है, उनके लिए आर्ट्स फ़ील्ड सबसे अच्छी और बेहतर है।

आर्ट्स में आम तौर पर इंग्लिश, हिस्ट्री, जियोग्राफी जैसे विषय होते है, आर्ट्स के 12वीं पास करने के बाद भी आप कई कोर्स कर सकते है जैसे- फैशन डिज़ाइनिंग, होटल मैनेजमेंट एंड इवेंट मैनेजमेंट, मास कम्यूनिकेशन एंड जर्नलिज्म आदि।

शायद अब आपको समझ आ गया होगा की 10th Ke Baad Konsa Subject Le, लेकिन अगर आप इन सभी विषयों को छोड़कर किसी अन्य फील्ड में जाना चाहते है तो आप 10th के बाद डिप्लोमा कोर्स या Professional Course भी कर सकते है जैसे:

  • पॉलिटेक्निक
  • आईटीआई (ITI)

10th Ke Baad Polytechnic

जो स्टूडेंट इंजीनियरिंग करने की चाह रखते है, उनके लिए पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स है। पॉलिटेक्निक में इंजीनियरिंग जैसी ही फ़ील्ड होती है, हम 10वीं कक्षा पास करने के बाद पॉलिटेक्निक में एडमिशन ले सकते है, पॉलिटेक्निक 3 साल का डिप्लोमा है।

पॉलिटेक्निक में हमे अपनी मर्ज़ी की फ़ील्ड चुन सकते है जैसे- Mechanical, Computer, Electronics आदि पॉलिटेक्निक करने के बाद हमे इंजीनियरिंग में डायरेक्ट 2nd Year (द्वितीय वर्ष) में एडमिशन मिल जाता है। तो अगर आपकी रूचि भी पॉलिटेक्निक कोर्स करने की है तो हमारी यह पोस्ट Polytechnic Kya Hai? Polytechnic Kaise Kare? आपके लिए बहुत उपयोगी है।

10th Ke Baad ITI

अगर आप कम समय में पढ़कर जल्दी से नौकरी करना चाहते है तो आईटीआई करके आपको 10th Ke Baad Job मिल जाती है। आईटीआई में अलग-अलग ट्रेड और कोर्स होते है। आईटीआई में 1 साल, 2 साल के कोर्स होते है। आपको जिस विषय में रूचि है वो ट्रेड आप Select कर सकते है, आईटीआई करने से सरकारी नौकरी के भी अधिक अवसर होते है। यदि आप ITI में अपना करियर बनाना चाहते है तो हमारी यह पोस्ट ITI Kya Hai? ITI Kaise Kare? आपके बड़े काम आएगी।

हाँ तो दोस्तों अब आपको समझ आ गया होगा की 10th Ke Baad Kya Kare, सभी कोर्सो की जानकारी लेने के बाद आपको समझ आ गया होगा की 10th Ke Baad Konsa Course Karna Chahiye

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here