आज हम आपको PGDM Kya Hai के बारे में बताने जा रहे है अगर आप PGDM Kaise Kare के बारे में जानना चाहते है तो आप बिलकुल सही पोस्ट पढ़ रहे इस पोस्ट में हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी देंगे हमे उम्मीद है की आपको हमारी पोस्ट ज़रूर पसंद आयेगी।

आज की पोस्ट में आपको PGDM Course In Hindi के बारे में भी जानने को मिलेगा जिसके बारे में हम आपको बिलकुल सरल भाषा में बतायेंगे आशा करते है की आपको हमारी पिछली सभी पोस्ट की तरह हमारी आज की पोस्ट Difference Between MBA And PGDM In Hindi भी जरूर पसंद आएगी जिसके बारे में आप पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे।

आजकल कई Student अपनी मनपसंद Field में अपना करियर बना रहे है कोई इंजीनियर तो कोई डॉक्टर की Field में अपना करियर बना रहा है इसी तरह एक Course यह भी होता है जिसे PGDM कहते है। यह Management में Post ग्रेजुएशन डिप्लोमा Course होता है। पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा Courses को PGDM के रूप में नामित करने का मुख्य कारण यह है की जब कोई संस्थान एक स्वायत्त निकाय यानि किसी विश्वविद्यालय से संबंधित नही है और Management Courses संचालित करता है तो ऐसे संगठन MBA की डिग्री प्रदान नही कर सकते है।

यह ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड एजुकेशन (AICTE) द्वारा मान्यता प्राप्त IIM डिप्लोमा प्रोग्राम होता है निजी संस्थानों का होने के नाते यह Course स्वप्रेरित (Self Prepared) होता है और इसमें प्लेसमेंट की दर भी काफी अच्छी होती है। AICTE UGC (Under Graduation Course) की तरह ही टेक्नोलॉजी और मैनेजमेंट के Course प्रदान करता है।

नमस्ते, मेरा नाम नीरज जीवनानी है, मैं हिंदी सहायता का संस्थापक हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ आपको हमारा काम इस वेबसाइट पर पसंद आ रहा होगा। हम दिन रात मेहनत करके पूरी टीम के सहयोग से यह साइट को चलाते है और आप तक बेहतरीन, एक से बढ़कर एक आर्टिकल्स पहुंचाने का प्रयास करते है। हिंदी सहायता को एक नयी ऊंचाई पर ले जाने के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए, हमने अभी हिंदी सहायता का एक मोबाइल एप्प लॉन्च किया है, इस एप्लीकेशन को आप यहां से डाउनलोड कर सकते है।यहाँ पर आप सभी महत्वपूर्ण जानकारियाँ सबसे पहले हासिल कर पाएंगे तो कृपया आप हमारा एप्प इनस्टॉल करके हमारा साथ ज़रूर दे ताकि हम आप तक हमेशा सभी महत्वपूर्ण आर्टिकल्स पहुँचाते रहे।

 

तो अगर आप भी AICTE के द्वारा मान्यता प्राप्त PGDM In Hindi की जानकारी पाना चाहते है की तो इसके लिए आपको हमारी इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक पढना होगा तभी आप PGDM Course Kaise Kare के बारे में जान पाएंगे हमे उम्मीद है की हमारी यह पोस्ट आप सभी के लिए उपयोगी होगी जिसके बारे में आपको जरूर जानना चाहिये।

PGDM Kya Hai

यह भारत की विभिन्न संस्थाओं के द्वारा प्रदान किये जाने वाला Full Time का Management Course होता है इस Course को विभिन्न संस्थाओं के द्वारा उनके पाठ्यक्रम के आधार पर 4 से 6 सेमेस्टर में विभाजित किया जा सकता है। भारत में जितने भी PGDM Courses चलाने वाले संस्थान है वे सभी AICTE के द्वारा मान्यता प्राप्त होते है। भारत की मानव संस्थान विकास मंत्रालय के अंतर्गत PGDM के Course Structure और Subject लगभग MBA के समान ही है इन दोनों के बीच सिर्फ एक अंतर यह है की MBA डिग्री प्रदान करता है जबकि PGDM एक पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा होता है। PGDM के कार्यक्रम किसी भी विश्वविद्यालय से संबंधित नही होते इसलिए इन्हें डिप्लोमा Courses के रूप में जाना जाता है।

Image result for PGDM Kya Hai

PGDM Full Form:

POST GRADUATE DIPLOMA IN MANAGEMENT

PGDM Full Form In Hindi:

प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा

PGDM Course Kaise Kare

PGDM Program में प्रवेश के लिए Candidate का कम से कम 50% Marks के साथ बेचलर डिग्री होना आवश्यक है। एसोसिएशन ऑफ़ इंडियन यूनिवर्सिटीज (AIU) द्वारा पोस्ट ग्रेजुएशन प्रोग्राम में एडमिशन के लिए मान्यता प्राप्त है। उम्मीदवार द्वारा माध्यमिक शिक्षा यानि 10वी+12वी कक्षा पूरी करने के बाद न्यूनतम 3 साल की बेचलर डिग्री करना अनिवार्य है। कार्यक्रम में आवेदकों को 10वी, 12वी और ग्रेजुएशन में पिछले शैक्षणिक Performance के आधार पर गणना की जाती है।

इसके अलावा PGDM Course के लिए कई Entrance Exam भी होती है आप PGDM Course में Amission के लिए CAT, MAT, XAT, GMAT और IBSAT आदि के लिए आवेदन कर सकते है। IIM जैसे शीर्ष संस्थान केवल CAT स्कोर और GD, PI (Group Discussion और Personal Interview) के आधार पर PGDM पाठ्यक्रम में एडमिशन प्रदान करते है। यदि आप शीर्ष संस्थानों और कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते है तो इसके लिए आपको इन Entrance Exam को Qualify करना होगा।

PGDM Program के लिए प्रतिभागी किसी भी विषय जैसे- Engineering, Economics, Commerce, Humanities, Medicine आदि ब्रांचेज से हो सकते है।

PGDM Course In Hindi

PGDM Syllabus In Hindi:

तो आईये अब आगे जानते है PGDM के Courses और Syllabus के बारे में।

Difference Between MBA And PGDM In Hindi

तो चलिए अब जानते है MBA और PGDM दोनों में क्या अंतर है।

PGDM

  • PGDM में आमतौर पर 2 साल में 4 सेमेस्टर होते है जबकि कभी-कभी 6 सेमेस्टर भी होते है।
  • यह AICTE द्वारा मान्यता प्राप्त IIM आधारित डिप्लोमा प्रोग्राम होता है।
  • यह AICTE के UGC प्रोग्राम की तरह टेक्नोलॉजी और मैनेजमेंट दोनों के Course कराता है।
  • यह व्यवसाय आधारित Advance Course होता है इसलिए इसका सिलेबस हर 4 से 5 साल में बदलता रहता है।

MBA

  • MBA 3 साल का Course होता है जिसमें 6 सेमेस्टर होते है।
  • Business की पढाई में Master Degree यानि MBA को अन्तराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त है।
  • विदेश में MBA की पढ़ाई करने के लिए आपको GMAT या GRE एग्जाम क्लियर करनी होती है।
  • MBA करने के बाद किसी भी विश्वविद्यालय से आगे की पढ़ाई की जा सकती है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here