आज हम आपको बताने जा रहे है Z Plus Security Kya Hai अगर आप Z Plus और Z Security के बारे में जानना चाहते है। तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पढ़ रहे हैं। इस पोस्ट के द्वारा आपको हम Z Security Kya Hoti Hai इसकी पूरी जानकारी देंगे।
Z Suraksha Kya Hai यह भी आप इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे। और हम आपको यह बिल्कुल सरल भाषा में समझाएँगे। आशा करते है की आपको हमारी सभी पोस्ट पसंद आ रही होगी। और इसी तरह आप आगे भी हमारे ब्लॉग पर आने वाली सारी पोस्ट पसंद करते रहे।
देश में Vip सुरक्षा का ध्यान रखकर उन्हें बहुत सी तरह की सुरक्षा प्रदान की जाती है। तथा बड़े नेताओं और अधिकारियों की सुरक्षा के लिए उन्हें इस तरह की Security प्रदान की जाती है। इसका निर्धारण सरकार करती है। लेकिन क्या आप जानते है की ये सुविधाएँ किन्हें दी जाती है। तो आज आपको बताते है की देश की सबसे बड़ी Vip सुरक्षा Z Plus में कौन से व्यक्ति शामिल होते है।
भारत के प्रतिष्ठित व्यक्तियों के लिए यह सुरक्षा होती है। किसी राजनीतिक व्यक्ति को या विशिष्ट व्यक्ति को यह सुरक्षा दी जाती है। किसी Vip पर खतरा ना हो इसके लिए यह सुरक्षा प्रदान की जाती है। जिसमें से कुछ को Z Plus Suraksha मिलती है। कुछ को Z श्रेणी की सुरक्षा मिलती है। तो आपको अब Detail में समझाते है इन सुरक्षा श्रेणी के बारे में।
तो चलिए दोस्तों जानते है अब Z Plus Security Kya Hoti Hai यदि आप भी इन सुरक्षा श्रेणी के बारे में पूरी तरह से जानकारी प्राप्त करना चाहते है। तो यह पोस्ट Z Security Kya Hai In Hindi शुरू से अंत तक ज़रुर पढ़े।

Z Plus Security Kya Hai

Z Plus Suraksha में 36 सुरक्षाकर्मी होते है। इनमें 10 Nsg (National Security Guards) और SPG (Special Protection Group) कमांडो होते है। और कुछ पुलिस भी शामिल होते है। यह सुरक्षा Vip व्यक्तियों को मिलती है।
Z Plus Suraksha की पहली ज़िम्मेदारी Nsg की होती है। तथा दूसरे Layer में SPG के अधिकारी होते है। तथा इनके अलावा ITBP (Indo- Tibetan Border Police) और CRPF (Central Reserve Police Force) भी सुरक्षा में तैनात होते है।
Z Plus Suraksha में प्रधानमंत्री और पूर्व प्रधानमंत्री को  SPG कमांडो सुरक्षा कवच प्रदान करते है। SPG का गठन 8 अप्रैल 1985 को हुआ। SPG के जवानों को विश्व स्तर की ट्रेनिंग पास करना होती है। SPG के जवान हाई ग्रेड बुलेटप्रूफ वेस्ट पहनते है। इसका वजन 2.2 किग्रा होता है।
भारत में करीब 450 लोगों को यह सुरक्षा दी गई है। इनमें से 15 लोगो को Z Plus Suraksha मिली हुई है। तथा इसमें प्रधानमंत्री की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी SPG की होती है।
प्रधानमंत्री के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री और उनके परिजनों को भी यह सुविधा कुछ समय के लिए मिलती है। SPG का साल भर का बजट 300 करोड़ रुपये से भी ज्यादा है। और इसे देश की सबसे महंगी और मजबूत Security माना जाता है।
यह सुरक्षा Ministers को मिलने वाली सुरक्षा से अलग होती है। इसके लिए सरकार को पहले Application देना होती है। जिसके बाद सरकार ख़ुफ़िया एजेंसी के द्वारा होने वाले खतरे का अनुमान लगाती है तथा खतरे की सूचना सही होने पर सुरक्षा दी जाती है।
Home Secretary, Director General और Chif Secretary की कमेटी तय करती है की सम्बन्धित लोगो को किस तरह की Category की सुरक्षा दी जाये।

Z Security Kya Hai

Z Security में 22 सुरक्षाकर्मी होते है। और 5 NS कमांडो हर समय मौजूद रहते है। इस Security में ITBP ( Indo- Tibetan Border Police) और CRPF (Central Reserve Police Force) के अधिकारी सुरक्षा में लगाये जाते है। इस Security में Escorts और पायलट वाहन भी दिए जाते है।
चलिए जानते है यह दोनों Security किन्हें प्राप्त होती है। तथा उस List में कौन शामिल है। यह सुरक्षा उन VIP या VVIP को दी जाती है जिनकी जान जाने का खतरा होता है। या जिनकी जान जाने से देश को नुकसान होता है। हम आपको आगे उन VIP की List बता रहे है।

  • राष्ट्रपति
  • उपराष्ट्रपति
  • प्रधानमंत्री
  • सुप्रीम कोर्ट या हाई कोर्ट जज
  • राज्यपाल
  • मुख्यमंत्री
  • प्रमुख नेता
  • प्रसिद्ध कलाकार
  • कोई खिलाड़ी
  • देश का कोई प्रसिद्ध तथा महत्वपूर्ण नागरिक

इनकी सुरक्षा को देखते हुए इन्हें 4 Category में बाँटा गया है। जिसके बारे में आप नीचे जान सकते है:

  • Z Plus Security
  • Z Security
  • X Security
  • Y Security

तथा इन Security के लिए जो भी पुलिस और कमांडो को चुना जाता है वो भारत के मुख्य 4 Army Force के जवान होते है। जिन्हें गृह मंत्रालय नियुक्त करते है:

नमस्ते, मेरा नाम नीरज जीवनानी है, मैं हिंदी सहायता का संस्थापक हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ आपको हमारा काम इस वेबसाइट पर पसंद आ रहा होगा। हम दिन रात मेहनत करके पूरी टीम के सहयोग से यह साइट को चलाते है और आप तक बेहतरीन, एक से बढ़कर एक आर्टिकल्स पहुंचाने का प्रयास करते है। हिंदी सहायता को एक नयी ऊंचाई पर ले जाने के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए, हमने अभी हिंदी सहायता का एक मोबाइल एप्प लॉन्च किया है, इस एप्लीकेशन को आप यहां से डाउनलोड कर सकते है।यहाँ पर आप सभी महत्वपूर्ण जानकारियाँ सबसे पहले हासिल कर पाएंगे तो कृपया आप हमारा एप्प इनस्टॉल करके हमारा साथ ज़रूर दे ताकि हम आप तक हमेशा सभी महत्वपूर्ण आर्टिकल्स पहुँचाते रहे।

 

  • SPG (Special Protection Group)
  • NSG (National Security Guard)
  • ITBP (Indo- Tibetan Border Police)
  • CRPF (Central Reserve Police Force)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here